श्रीगणेश चतुर्थी से लेकर ११ दिनों तक प्रभु मंदिर में श्रीगणेशोत्सव संपन्न हुआ। इस वर्ष करोना महामारी के चलते प्रतिवार्षिक धूमधाम का अभाव होते हुए भी संपूर्ण विधिविधानपूर्वक श्रीगणेशोत्सव के कार्यक्रम संपन्न हुए। मंगलवार १ सितंबर की रात्रि को श्रीजी ने श्रीगणेशजी की विशेष प्रदोषपूजा संपन्न की। मंत्रजागर के पश्चात्‌ अत्यंत लघुप्रमाण पर श्रीगणेशजी की शोभायात्रा संपन्न होकर प्रतिमा का विसर्जन किया गया।